सांप के काटने पर क्या उपाय करना चाहिए

सांप के काटने पर क्या उपाय करना चाहिए

हमारा भारत देश एक उष्णकटिबंधीय क्षेत्र है इसलिए यहाँ पर बारिश के समय पर बहुत सारे लोगों की सांप काट लेने के द्वारा मृत्यु हो जाती है । ऐसे में यह जरूरी है कि हमें पता हो कि सांप के काट लेने बाद क्या करना चाहिए ।

सांप के काटने के लक्षण

सांप के काटने पर पहले तो मरीज को पता चलता है कि उसे किसी चीज ने काटा है । जिस जगह पर सांप काटा है उस जगह पर सांप के दो दांतों के निसान दिखतेहैं । सांप जहरीला है या नहीं यह तो जांच के बाद ही पता चलता है । वहां पर बहुत तेज दर्द होगा, मरीज को सांस लेने में समस्या हो सकती है । शरीर नीला भी पड़ सकता है । अगर किसी चीज के काट लेने के बाद व्यक्ति को नींद आती है या फिर बेहोसी की हालत बन जाती है और उसके शरीर पर दो दांतो के निसान पाए जाते हैं तो निश्चित है कि उसे सांप ने ही काटा है ।

जहाँ सांप काटता है वहां के tissue सफेद हो जाते हैं जिसे देखकर आप समझ सकते हैं कि सांप ने ही काटा है ।

सांप काट लेने पर क्या करना चाहिए

सांप के काटने पर सबसे पहले तो मरीज को बिलकुल भी घबराना नहीं चाहिए । भारत में 80 प्रतिसत सांप विषैले नहीं हैं इसलिए मरीज को घबराना नहीं चाहिए । जहाँ पर सांप काटा है उस जगह से 6 इंच ऊपर एक पट्टी बाँध देनी चाहिए और जल्द से जल्द मरीज को नजदीकी अस्पताल में ले जाना चाहिए । अस्पताल में व्यक्ति को Anti Snake Venom दिया जाता है और सिको हर 6 घंटे में doctor के द्वारा दिया जाता है जब तक वह स्वस्थ नहीं हो जाता ।

सांप काट लेने के बाद मरीज को किसी झाड़ फूँक वाले के पास नहीं जान चाहिए । सांप के काट लेने के बाद किसी झाड़ फूँक वाले या ओझा के पास जाकर जान को जोखिम में नहीं डालना चाहिए । अगर सांप काट लेने के बाद कोई झाड़ फूँक वाले के पास जाता है तो वहां पर जान जाने का पूरा पूरा खतरा है । हमारे देश में सरकारी अस्पताल में सांप के काटने का मुफ्त में पूरा इलाज होता है ।

मरीज को बिलकुल भी चलने नहीं देना चाहिए और जहाँ पर सांप ने काटा है उस जगह को बिलकुल भी नहीं हिलना चाहिए ।

सांप काट लेने पर क्या नहीं करना चाहिए

  • सांप के काटने पर सबसे पहले तो किसी ओझा तांत्रिक के पास नहीं जाना चाहिए ।
  • सांप के काटने पर जिस जगह सांप काटा है उस जगह चीरा न लगाएं ।
  • सांप काट लेने के बाद किसी भी अंध बिश्वास में नहीं पड़ना चाहिए जैसे की घाव पर राख लगाना, नीम की पत्तिया खाना इत्यादि ।
  • सांप के जहर को मुख से चूस कर बाहर निकालने का प्रयास नहीं करना चाहिए ।

यह भी पड़ें – प्रह्लाद महाराज की कथा, प्रह्लाद महराज ने क्या शिक्षाएं दीं?

धार्मिक कथाएं और खबरें पड़ने के लिए आगे क्लिक करके हमारा व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें – Getgyaan

Leave a Reply